Home / admin

admin

Maithili Darpan Admin

मातृ वन्दना

मैथिली-कविता

कविता:- मातृदिवस ममतामयि केर वन्दन नीज श्रद्धा अर्पित करथि सन्तान। मातृ ऋणक प्रतिकार कोनों नञ जगमे मायक महिमा अछि महान।१। नित्य चरण वन्दन हे करुणामयि! स्नेहसुधा पाओल तन-मन अपार। करुणामयि!करुणा केर सागर छी जननी छथि सृष्टि चक्रक आधार।२। कोखि राखि एहि जगमे आनल हिय क्षीरनिधि आहारक निर्माण। सन्तति के नेह-स्नेह …

Read More »

कलियुगक प्रभाव

मैथिली-कविता

कलियुगक प्रभाव कलियुग सगतरि पैSर पसारल स्वरुप युगके बदलि रहल अछि। कलुषित बनल मनुष्यक जीवन लोक धर्मके बिसरि चुकल अछि।।१।। देलनि परिक्षित जे स्थान बासके स्वर्ण मदिरा ओ परस्त्री गमनमे। देखि रहल छी ओकर फला-फल चारिम अछि जुआ उँच भवनमे।।२।। धनके ईच्छा सबसँ अछि बलगर सम्मानित अछि मदिरा ओहिमे। अर्ध …

Read More »

मिथिला महिमा

मैथिली-कविता

मिथिला महिमा मैथिलवंशक अमरसुमन यश इतिहासो अछि गावि रहल । अपूर्ण पञ्चम बालक शंकर त्रिलोक महिमा गाबि चुकल ।। सीता सब मैथिल कन्या छथि पिता जनकपद पाबि चुकल । जगदम्बा जनकक आँगनमें बेटी बनि छथि आबि चुकल ।। त्रिभुवनपति जामाता जिनकर सदेह-विदेह पद पाबि चुकल । धनुषयज्ञसँ पुरुषपरीक्षा मैथिल गुण-गौरव …

Read More »